Sainik School Admission | Post Matric Scholarship Online    E-Shram Card Online | PFMS Scholarship Status    Voter List Download | CTET Online Form 2021    UPSC Calender Download | NSP Scholarship Online    राशन कार्ड ऑनलाइन बिहार | Inter Direct Admission 2021

What does Means Orange Alert Yellow Alert Green Alert

Red Alert⇒ whenever a cyclone comes with more intensity. As the speed of wind with strong rains is not the only scale of 130 kilometers per hour, the meteorological department issues a red alert for the areas read in the range of the storm and the administration is asked to take necessary steps. Red Alert means
 Hazardous condition The Meteorological Department says that when the weather reaches a dangerous level and there is a risk of heavy damage, a red alert is issued. Such alerts are announced only when there is a possibility of rain more than 30 km. And this happens for at least 2 hours, in most cases people living in low-lying areas are taken out because the risk of flooding due to heavy rains increases manifold.


रेड अलर्ट⇒जब भी कोई चक्रवात अधिक तीव्रता के साथ आता है , जैसे तेज बारिश के साथ हवा की रफ्तार 130 किलोमीटर प्रति घंटा (केवल यही एक पैमाना नहीं) है तो मौसम विभाग की ओर से तूफान की रेंज में परने वाली इलाकों के लिए RED ALERT  जारी किया जाता है|

और प्रशासन से जरूरी कदम उठाने के लिए कहा जाता है  रेड अलर्ट का मतलब होता है-  खतरनाक स्थिति मौसम विभाग का कहना है, कि जब मौसम खतरनाक स्तर पर पहुंच जाता है और भारी नुकसान होने का खतरा रहता है तो रेड अलर्ट जारी किया जाता है

इस प्रकार के अलर्ट की घोषणा तभी की जाती है जब 30 किलोमीटर से अधिक बारिश की संभावना हो और यह कम से कम 2 घंटे तक होती हो ज्यादातर मामलों में निचले इलाकों में रह रहे लोगों को बाहर निकाल लिया जाता है क्योंकि तेज बारिश के कारण बाढ़ आने का खतरा कई गुना बढ़ जाता है |

weather report red alert
weather report red alert

येलो अलर्ट  मौसम विभाग हेलो अलर्ट का प्रयोग लोगों को सूचित करने के लिए करता है इसका मतलब होता है खतरे के प्रति सचेत रहें उदासीन नहीं बता दिया अलर्ट जस्टवॉच का सिग्नल है इस प्रकार की चेतावनी में 7.5 से 15 एमएम की  भारी बारिश होती है जो कि अगले 1 या 2 घंटे तक जारी रहने की संभावना होती है जिसके कारण बाढ़ आने की संभावना रहती है इस अलर्ट से मौसम पर लगातार कड़ी नजर रखी जाती है |




Yellow Alert Meteorological Department uses Yellow Alert to notify people. It means be alert to danger. Not given indifferent alert. Alert is a signal of justwatch. That there is a possibility of continuing for the next 1 or 2 hours due to which there is a possibility of flooding, this alert keeps a constant watch on the weather.

ऑरेंज अलर्ट⇒ मौसम विभाग का कहना है कि जैसे जैसे मौसम खराब होता जाता है वैसे ही  yellow अलर्ट को अपडेट करके ऑरेंज अलर्ट जारी किया जाता है ऑरेंज अलर्ट के अंतर्गत इस प्रकार की warning जारी की जाती है इस चक्रवात के कारण मौसम के बहुत अधिक खराब होने की संभावना है जो कि सड़क और वायु परिवहन को नुकसान पहुंचाने के साथ-साथ जान और माल की क्षति भी कर सकता है इसीलिए लोगों को घरों में रहने की सलाह दी जाती है इस प्रकार की वार्निंग जारी किए जाने वाले चक्रवात में हवा की स्पीड लगभग 65 से 75 किलोमीटर प्रति घंटा होती है और 15 से 33 एमएम की घनघोर बारिश होने की संभावना रहती है इस अलर्ट में प्रभावित क्षेत्र में खतरनाक बाढ़ आने की प्रबल संभावना होती है इस प्रकार के अलर्ट की सूचना में लोगों को प्रभावित एरिया से बाहर निकालने का प्लान तैयार रखना पड़ता है|

Orange Alert⇒ Meteorological Department says that as the weather gets worse, the Aloe alert is issued by updating the Aloe alert, this type of warning is issued under.

Orange Alert, due to this cyclone, the weather is very bad.

There is a possibility that which can cause damage to the road and air transport, as well as loss of life and property, that’s why people are advised to stay in homes.

The type of winding issued in the cyclone has a wind speed of about 65 to 75 km/h and there is a possibility of heavy rains of 15 to 33 mm.

This alert has a high probability of causing dangerous flooding in the affected area thus In the notification of the alert, a plan has to be prepared to get people out of the affected area.

ग्रीन अलर्ट⇒ कई बार मौसम विभाग द्वारा ग्रीन अलर्ट जारी किया जाता है इसका मतलब होता है कि संबंधित जगह पर कोई खतरा नहीं है अलर्ट घोषित होने की स्थिति में निम्न सावधानियां बरतनी चाहिए |

जैसे → (i). अलर्ट जारी होने की स्थिति में लोगों को सबसे पहले अपने घर पर पहुंचना चाहिए

और यदि चक्रवात ज्यादा खतरनाक होने की संभावना हो तो सरकार द्वारा बनाएंगे सुरक्षित स्थलों पर चले जाना चाहिए

(ii ) चक्रवात की प्रगति की जानकारी के लिए अपने पोर्टेबल रेडियो को सुनते रहे घर की लाइट और गैस कनेक्शन को बंद कर दें

(iii)  सुनिश्चित करें कि पालतू जानवरों को सुरक्षित रूप से आ गया है अपने घर के सबसे मजबूत सबसे सुरक्षित जाएं दरवाजे और खिड़कियों से दूर रखें अपना आपातकालीन अपने साथ रखें |




 

Green AlertMany times a Green Alert is issued by the Meteorological Department. This means that there is no danger at the place concerned. The following precautions should be taken in case an alert is declared.

Such as → (i). In the event of an alert being issued, people should first arrive at their home

And if there is a possibility of cyclone becoming more dangerous, then the government should make safe places

(ii) Turn off the light and gas connection of the house listening to your portable radio to know the progress of the cyclone.

(iii) Make sure that the pets have arrived safely. Keep the strongest of your house safe and away from doors and windows. Keep your emergency with you.




Leave a Comment